Physics General Knowledge Questions and Answers ! भौतिकी सामान्य ज्ञान प्रश्न और उत्तर

Table of Contents

Physics General Knowledge Questions and Answers in Hindi ! भौतिकी सामान्य ज्ञान प्रश्न और उत्तर

आईएएस, एसएससी, एनडीए, सीडीएस, यूपीएससी, बैंकिंग, बैंक, पीओ, आईबीपीएस, न्यायपालिका, यूपीएससी, राज्य स्तरीय पीएससी और सभी परीक्षाओं की तैयारी के लिए के लिए भौतिकी वस्तुनिष्ठ  सामान्य ज्ञान और सामान्य विज्ञान प्रश्न और उत्तर

Q.निम्न में से कौन सा सही है?

[ए] एक चुंबक के ध्रुव हमेशा जोड़े में होते हैं
[बी] ध्रुवों की तरह आकर्षित होते हैं और विपरीत ध्रुवों को पीछे हटाते हैं
[सी] ए और बी दोनों
[डी] उपरोक्त में से कोई नहीं

सही उत्तर: ए [चुंबक के ध्रुव हमेशा जोड़े में होते हैं]
चुम्बक के ध्रुव सदैव जोड़े में होते हैं। ध्रुवों के विपरीत आकर्षित करते हैं और ध्रुवों की तरह प्रतिकर्षित करते हैं।

Q.चुंबकीय द्विध्रुव आघूर्ण की SI इकाई क्या है?

[ए] जूल/टेस्ला
[बी] जूल/मीटर
[सी] टेस्ला/मीटर
[डी] न्यूटन/मीटर

सही उत्तर: ए [जूल/टेस्ला]
चुम्बकीय द्विध्रुव आघूर्ण का SI मात्रक जूल/टेस्ला है।

Q.निम्नलिखित में से किस तत्व में ट्रिटियम नाम का आइसोटोप है?

[ए] हीलियम
[बी] कार्बन
[सी] टाइटेनियम
[डी] हाइड्रोजन

सही उत्तर: डी [हाइड्रोजन]
हाइड्रोजन के तीन सबसे स्थिर समस्थानिक: प्रोटियम, ड्यूटेरियम और ट्रिटियम।

Q.निम्नलिखित में से कौन हमें एक परमाणु की द्रव्यमान संख्या देता है?

[ए] इलेक्ट्रॉनों की कुल संख्या
[बी] न्यूट्रॉन की कुल संख्या
[सी] न्यूक्लिऑन की कुल संख्या
[डी] उपरोक्त में से कोई नहीं

सही उत्तर: सी [न्यूक्लिऑन की कुल संख्या]
न्यूक्लियॉन शब्द का प्रयोग प्रोटॉन या न्यूट्रॉन के लिए किया जाता है। इस प्रकार किसी परमाणु में न्यूक्लिऑनों की संख्या उसकी द्रव्यमान संख्या A होती है।

Q.इनमें से किस किरण की आयनीकरण शक्ति सबसे अधिक होती है?

[ए] अल्फा
[बी] बीटा
[सी] गामा
[डी] सभी में समान है

सही उत्तर: ए [अल्फा]
अल्फा किरणों में सबसे अधिक आयनकारी शक्ति होती है, उसके बाद बीटा किरणें और फिर गामा किरणें होती हैं।

Q.पीएन डायोड को रिवर्स-बायस में क्या कहा जाता है?

[ए] बाहरी बैटरी का सकारात्मक टर्मिनल पी-साइड से जुड़ा है
[बी] बाहरी बैटरी का सकारात्मक टर्मिनल एन-साइड से जुड़ा है
[सी] बाहरी बैटरी का नकारात्मक टर्मिनल एन-साइड से जुड़ा है
[डी] उपर्युक्त में से कोई नहीं

सही उत्तर: बी [बाहरी बैटरी का सकारात्मक टर्मिनल एन-साइड से जुड़ा है]
यदि बाहरी बैटरी का धनात्मक टर्मिनल n-साइड से जुड़ा है और बाहरी बैटरी का नकारात्मक टर्मिनल p- साइड से जुड़ा है, तो pn जंक्शन को रिवर्स बायस्ड कहा जाता है।

Q.फॉरवर्ड बायस्ड होने पर pn जंक्शन डायोड के प्रतिरोध का क्या होता है?

[ए] यह उच्च हो जाता है
[बी] कोई प्रभाव नहीं
[सी] यह कम हो जाता है
[डी] यह शून्य हो जाता है

सही उत्तर: सी [यह कम हो जाता है]
pn जंक्शन डायोड का प्रतिरोध अग्रदिशिक बायस्ड होने पर कम हो जाता है और रिवर्स बायस्ड होने पर उच्च हो जाता है। यह दिष्टकारी की कार्यप्रणाली का सिद्धांत है।

Q.इनमें से कौन सा डायोड विद्युत ऊर्जा को प्रकाश में परिवर्तित करता है?

[ए] फोटोडायोड्स
[बी] प्रकाश उत्सर्जक डायोड
[सी] फोटोवोल्टिक उपकरण
[डी] कोई नहीं

सही उत्तर: बी [प्रकाश उत्सर्जक डायोड]
प्रकाश उत्सर्जक डायोड (एलईडी) विशेष डायोड होते हैं जो विद्युत ऊर्जा को प्रकाश में परिवर्तित करते हैं।

Q.अर्धचालक की चालकता बढ़ाने के लिए इनमें से किस अपमिश्रक का उपयोग नहीं किया जाता है?

[ए] इंडियम
[बी] एल्युमिनियम
[सी] आर्सेनिक
[डी] बोरॉन

सही उत्तर: बी [एल्युमिनियम]
टेट्रावेलेंट सी या जीई डोपिंग में दो प्रकार के डोपेंट का उपयोग किया जाता है: (i) पेंटावैलेंट (वैलेंसी 5); जैसे आर्सेनिक (एएस), एंटीमनी (एसबी), फॉस्फोरस (पी), आदि (ii) त्रिसंयोजक (संयोजी 3); जैसे इंडियम (इन), बोरॉन (बी), एल्युमिनियम (अल), आदि

Q.शुद्ध सिलिकॉन को समूह-3 के तत्व से डोप करने पर हमें किस प्रकार का अर्धचालक प्राप्त होता है?

[ए] एन-टाइप सेमीकंडक्टर
[बी] पी-टाइप सेमीकंडक्टर
[सी] इंट्रिंसिक सेमीकंडक्टर
[डी] कोई नहीं

सही उत्तर: बी [पी-प्रकार अर्धचालक]
यदि सिलिकॉन (या जर्मेनियम) को बोरॉन, एल्यूमीनियम, गैलियम या इंडियम जैसे त्रिसंयोजक (सबसे बाहरी खोल में तीन इलेक्ट्रॉन) परमाणु के साथ डोप किया जाता है, तो तीन वैलेंस इलेक्ट्रॉन तीन सिलिकॉन परमाणुओं के साथ सहसंयोजक बंधन बनाते हैं और एक इलेक्ट्रॉन की कमी पैदा होती है। ऐसे सेमीकंडक्टर को p-टाइप सेमीकंडक्टर कहा जाता है।

Q.असंपीड्य की प्रवाह गति को मापने के लिए उपयोग किए जाने वाले उपकरण को क्या कहा जाता है?

[ए] टोरी-मीटर
[बी] बर्नौली-मीटर
[सी] हाइड्रो-मीटर
[डी] वेंचुरी-मीटर

सही उत्तर: डी [वेंचुरी-मीटर]
वेंटुरी-मीटर असंपीड्य तरल पदार्थ की प्रवाह गति को मापने के लिए एक उपकरण है। इसमें एक व्यापक व्यास वाली एक ट्यूब होती है और बीच में एक छोटा सा संकुचन होता है।

Q.निम्नलिखित में से किसका द्रव की सतह के नीचे दाब पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है?

[ए] तरल सतह का क्षेत्रफल
[बी] तरल का घनत्व
[सी] गुरुत्वाकर्षण क्षेत्र की ताकत
[डी] तरल की गहराई

सही उत्तर: ए [तरल सतह का क्षेत्रफल]
P पानी = ⍴ gh उपरोक्त सूत्र से यह स्पष्ट है कि पानी का दबाव केवल पानी के घनत्व, गुरुत्वाकर्षण त्वरण और पानी के स्तंभ की ऊंचाई पर निर्भर करता है।

Q.निम्नलिखित में से कौन सा दबाव का प्रतिनिधित्व करता है?

[ए] बल/घनत्व
[बी] बल x क्षेत्र
[सी] बल/क्षेत्र
[डी] बल/त्वरण

सही उत्तर: सी [बल/क्षेत्र]
दबाव को प्रति इकाई क्षेत्र में कार्यरत सामान्य बल के रूप में परिभाषित किया गया है। इसे P द्वारा निरूपित किया जाता है। P = बल / क्षेत्र यह किसी वस्तु पर लगाया गया भौतिक बल है और लगाया गया बल प्रति इकाई क्षेत्र में वस्तुओं की सतह के लंबवत होता है।

Q.इनमें से किस कारक पर उछाल निर्भर करता है?

[ए] द्रव का घनत्व
[बी] शरीर का आयतन
[सी] ए और बी दोनों
[डी] उपरोक्त में से कोई नहीं

सही उत्तर: सी [ए और बी दोनों]
उछाल निम्नलिखित दो कारकों पर निर्भर करता है: 1. द्रव में डूबे हुए शरीर का आयतन। 2. द्रव का घनत्व जिसमें शरीर डूबा हुआ है

Q.अशुद्धियों में वृद्धि का द्रव के पृष्ठ तनाव पर क्या प्रभाव पड़ता है ?

[ए] यह बढ़ता है
[बी] यह घटता
है [सी] यह बढ़ता या घटता है
[डी] कोई बदलाव नहीं

सही उत्तर: सी [यह बढ़ या घट सकता है]:
संदूषण की डिग्री के आधार पर, अशुद्धियों की उपस्थिति सतह तनाव के बल को काफी प्रभावित करती है। अत्यधिक घुलनशील पदार्थ जैसे सोडियम क्लोराइड को पानी में घोलने पर पानी का पृष्ठ तनाव बढ़ जाता है। लेकिन कम घुलनशील पदार्थ जैसे फिनोल पानी में घुलने पर पानी के सतही तनाव को कम कर देता है।

Q. 4° पर जल का घनत्व कितना होता है?

[ए] 1.0
[बी] 1.0 × 10 2 किग्रा एम–3
[सी] 1.0 × 10 3 किग्रा एम–3
[डी] 10 किग्रा एम–3

सही उत्तर: सी [1.0 × 10 3 किग्रा मी–3]
4°C (277 K) पर पानी का घनत्व 1.0 × 10 3 kg m-3 है। किसी पदार्थ का आपेक्षिक घनत्व 4°C पर उसके घनत्व और पानी के घनत्व का अनुपात होता है।

Q. निम्नलिखित में से कौन सा किनेमेटिक चिपचिपाहट का प्रतिनिधित्व करता है?

[ए] श्यानता/तापमान
[बी] श्यानता/क्षेत्र
[सी] श्यानता/घनत्व
[डी] श्यानता/द्रव्यमान

सही उत्तर: सी [श्यानता/घनत्व]
कीनेमेटिक चिपचिपाहट को गणितीय रूप से द्रव की चिपचिपाहट के घनत्व के अनुपात के रूप में परिभाषित किया जाता है। यह गुरुत्वाकर्षण के प्रभाव में द्रव के प्रतिरोधक प्रवाह का माप है।

Q. सेकंड का पेंडुलम क्या है?

[ए] सरल लोलक जिसका कंपन की समय अवधि एक सेकंड है
[बी] साधारण लोलक जिसका कंपन की समयावधि दो सेकंड है
[सी] सरल लोलक जिसका कंपन की समय अवधि चार सेकंड है
 [डी] साधारण लोलक जिसका कंपन की समय अवधि है दस सेकंड

सही उत्तर: बी [सरल पेंडुलम जिसका कंपन की समयावधि दो सेकंड है]
एक सेकंड का पेंडुलम वह सरल पेंडुलम है जिसका कंपन की समय अवधि दो सेकंड होती है।

Q.तरंग की तरंग दैर्ध्य क्या है?

[ए] समान चरण वाले दो बिंदुओं के बीच की दूरी का वर्ग
[बी] समान चरण वाले दो बिंदुओं के बीच अधिकतम दूरी
[सी] समान चरण वाले दो बिंदुओं के बीच न्यूनतम दूरी
[डी] उपरोक्त में से कोई नहीं

सही उत्तर: सी [समान चरण वाले दो बिंदुओं के बीच न्यूनतम दूरी]
समान कला वाले दो बिन्दुओं के बीच की न्यूनतम दूरी को तरंग की तरंगदैर्घ्य कहते हैं। इसे λ द्वारा निरूपित किया जाता है ।

Q.तापमान में वृद्धि का ध्वनि की गति पर क्या प्रभाव पड़ता है?

[ए] बढ़ता है
[बी] घटता
है [सी] बढ़ता है या नहीं बढ़ता है
[डी] कोई प्रभाव नहीं पड़ता है

सही उत्तर: ए [यह बढ़ता है]
किसी भी माध्यम में जैसे ही हम तापमान बढ़ाते हैं ध्वनि की गति बढ़ जाती है। उदाहरण के लिए, हवा में ध्वनि की गति 0 डिग्री सेल्सियस पर 331 एमएस-1 और 22 डिग्री सेल्सियस पर 344 एमएस-1 है।

Q. अपनी स्थिति के आधार पर ऊर्जा के रूप में जाना जाता है:

[ए] गतिज ऊर्जा
[बी] संभावित ऊर्जा
[सी] आंतरिक ऊर्जा
[डी] ऊष्मा ऊर्जा

सही उत्तर: बी [संभावित ऊर्जा]
अपनी स्थिति के आधार पर ऊर्जा को संभावित ऊर्जा के रूप में जाना जाता है। इसकी गति के आधार पर ऊर्जा को गतिज ऊर्जा के रूप में जाना जाता है।

Q. घड़ी के स्प्रिंग में किस प्रकार की ऊर्जा संचित होती है?

[ए] काइनेटिक
[बी] संभावित
[सी] गर्मी
[डी] रासायनिक

सही उत्तर: बी [संभावित]
स्थितिज ऊर्जा घड़ी के स्प्रिंग में संचित होती है। संभावित ऊर्जा अन्य वस्तुओं के सापेक्ष किसी वस्तु की स्थिति के आधार पर ऊर्जा है। यह अक्सर वसंत या गुरुत्वाकर्षण बल जैसे बहाल करने वाली शक्तियों से जुड़ा होता है।

Q. केप्लर के तीसरे नियम के अनुसार, किसी ग्रह की परिभ्रमण अवधि का वर्ग निम्नलिखित में से किसके समानुपाती होता है?

[ए] इसकी दीर्घवृत्तीय कक्षा का सेमी-मेजर एक्सिस
[बी] इसके एलिप्टिकल ऑर्बिट के सेमी-मेजर एक्सिस का क्यूब रूट
[सी] एलिप्टिकल ऑर्बिट के सेमी-मेजर एक्सिस का वर्ग
[डी] एलिप्टिकल के सेमी-मेजर एक्सिस का क्यूब की परिक्रमा

सही उत्तर: डी [इसकी अण्डाकार कक्षा के अर्ध-प्रमुख अक्ष का घन]
केपलर का तीसरा नियम: किसी ग्रह की परिक्रमण की समयावधि का वर्ग उसकी अण्डाकार कक्षा के अर्ध-प्रमुख अक्ष के घन के सीधे आनुपातिक होता है। इसे काल के नियम के रूप में भी जाना जाता है।

Q.पृथ्वी के घूर्णन की दर बढ़ने पर ध्रुवों पर गुरुत्वाकर्षण के कारण त्वरण के मान पर क्या प्रभाव पड़ेगा?

[ए] कोई प्रभाव नहीं
[बी] यह बढ़ जाएगा
[सी] यह घट जाएगा
[डी] यह शून्य हो जाएगा

सही उत्तर: ए [कोई प्रभाव नहीं]
यदि पृथ्वी के घूमने की दर बढ़ जाती है तो ध्रुवों को छोड़कर पृथ्वी की सतह पर सभी स्थानों पर गुरुत्वाकर्षण के कारण त्वरण का मान घट जाता है।

Q. किसी उपग्रह की गतिज ऊर्जा निम्नलिखित में से किस स्थिति में अधिकतम होती है?

[ए] जब उपग्रह उपभू पर होता है
[बी] जब उपग्रह अपभू पर होता है
[सी] यह उपभू और अपभू पर बराबर होता है
[डी] उपरोक्त में से कोई नहीं

सही उत्तर: ए [जब उपग्रह उपभू पर हो]
काइनेटिक ऊर्जा तब अधिकतम होगी जब उपग्रह केंद्रीय निकाय (पेरीगी पर) के सबसे करीब होगा और न्यूनतम तब होगा जब यह केंद्रीय निकाय (अपभू पर) से सबसे दूर होगा। संभावित ऊर्जा तब न्यूनतम होगी जब गतिज ऊर्जा = अधिकतम यानी, उपग्रह केंद्रीय निकाय (पेरिगी पर) के सबसे करीब होगा और अधिकतम तब होगा जब गतिज ऊर्जा = न्यूनतम यानी, उपग्रह केंद्रीय निकाय (अपभू पर) से सबसे दूर होगा।

Q. एक पृथ्वी उपग्रह S की कक्षा की त्रिज्या एक संचार उपग्रह C से दोगुनी है। S की परिक्रमा की अवधि क्या होगी?

[ए] 1 दिन
[बी] 2 दिन
[सी] 4 दिन
[डी] 8 दिन

सही उत्तर: सी [4 दिन]
केप्लर के तीसरे नियम के अनुसार, किसी भी ग्रह की अवधि का वर्ग उसकी कक्षा के सेमीमेजर अक्ष के घन के समानुपाती होता है। टी एस / टी सी = 2 3/2 = 4 दिन

Q. किसी उपग्रह की बंधन ऊर्जा पर कक्षा की त्रिज्या में वृद्धि का क्या प्रभाव होता है?

[ए] यह बढ़ता है
[बी] यह घटता
है [सी] यह वही रहता है
[डी] उपर्युक्त में से कोई नहीं

सही उत्तर: बी [यह घटता है]
उपग्रह की बाध्यकारी ऊर्जा कक्षा की त्रिज्या में वृद्धि के साथ घटती है। किसी उपग्रह की बंधन ऊर्जा कक्षा की त्रिज्या के व्युत्क्रमानुपाती होती है।

Q. यंग का मापांक क्या है?

[ए] अनुदैर्ध्य तनाव का सामान्य तनाव से अनुपात
[बी] अनुदैर्ध्य तनाव के सामान्य तनाव का उत्पाद
[सी] सामान्य तनाव से अनुदैर्ध्य तनाव
का अनुपात [डी] सामान्य तनाव से पार्श्व तनाव का अनुपात

सही उत्तर: सी [सामान्य तनाव से अनुदैर्ध्य तनाव का अनुपात]
यंग के मापांक को आनुपातिकता की सीमा के भीतर सामान्य तनाव और अनुदैर्ध्य तनाव के अनुपात के रूप में परिभाषित किया गया है। Y = सामान्य तनाव/अनुदैर्ध्य तनाव

Q. निम्नलिखित में से कौन सा दबाव का प्रतिनिधित्व करता है?

[ए] बल/घनत्व
[बी] बल x क्षेत्र
[सी] बल/क्षेत्र
[डी] बल/त्वरण

सही उत्तर: सी [बल/क्षेत्र]
दबाव को प्रति इकाई क्षेत्र में कार्यरत सामान्य बल के रूप में परिभाषित किया गया है। इसे P द्वारा निरूपित किया जाता है। P = बल / क्षेत्र यह किसी वस्तु पर लगाया गया भौतिक बल है और लगाया गया बल प्रति इकाई क्षेत्र में वस्तुओं की सतह के लंबवत होता है।

Q. आवृत्ति की SI इकाई क्या है?

[ए] दूसरा
[बी] वाट
[सी] हर्ट्ज़
[डी] जूल

सही उत्तर: सी [हर्ट्ज]
आवृत्ति को प्रति सेकंड शरीर द्वारा निष्पादित आवधिक गतियों की संख्या के रूप में परिभाषित किया गया है। आवृत्ति की SI इकाई हर्ट्ज़ (Hz) है।

Q. निम्नलिखित में से कौन सा द्रव्यमान की सबसे बड़ी व्यावहारिक इकाई है?

[ए] स्लग
[बी] एमू
[सी] हाइपरकेजी
[डी] सीएसएल

सही उत्तर: डी [सीएसएल]
द्रव्यमान की सबसे बड़ी व्यावहारिक इकाई को चंद्र शेखर लिमिट (CSL) कहा जाता है जो सूर्य के द्रव्यमान के 1.4 गुना के बराबर है। चंद्रशेखर सीमा एक स्थिर सफेद बौने तारे के लिए सैद्धांतिक रूप से अधिकतम संभव द्रव्यमान है। इस सीमित मूल्य का नाम भारत में जन्मे खगोल वैज्ञानिक सुब्रह्मण्यन चंद्रशेखर के नाम पर रखा गया था, जिन्होंने इसे 1930 में तैयार किया था। अल्बर्ट आइंस्टीन के सापेक्षता के विशेष सिद्धांत और क्वांटम भौतिकी के सिद्धांतों का उपयोग करते हुए, चंद्रशेखर ने दिखाया कि एक सफेद बौने तारे के लिए यह असंभव है, जो पूरी तरह से समर्थित है। इलेक्ट्रॉनों की एक पतित गैस, स्थिर होने के लिए यदि इसका द्रव्यमान सूर्य के द्रव्यमान के 1.44 गुना से अधिक है।

Q. म्युचुअल इंडक्शन के गुणांक की SI इकाई क्या है?

[ए] वेबर
[बी] कैंडेला
[सी] हेनरी
[डी] लैम्बर्ट

सही उत्तर: सी [हेनरी]
म्युचुअल इंडक्शन के गुणांक की इकाई हेनरी लैम्बर्ट ल्यूमिनेंस की एसआई इकाई है वेबर मैग्नेटिक फ्लक्स की एसआई इकाई है कैंडेला चमकदार तीव्रता की एसआई इकाई है

Q. न्यूटन का तीसरा नियम तब लागू होता है जब

[ए] शरीर आराम पर हैं
[बी] शरीर गति में हैं
[सी] शरीर हवा में हैं
[डी] शरीर आराम या गति में हैं

सही उत्तर: डी [शरीर आराम या गति में हैं]
न्यूटन का तीसरा नियम लागू होता है चाहे पिंड स्थिर हों या गति में हों। इसमें कहा गया है कि प्रत्येक क्रिया की बराबर और विपरीत प्रतिक्रिया होती है।

Q. निम्नलिखित में से कौन सा किसी भी समय रॉकेट के वेग के बारे में सही नहीं है?

[ए] यह गैसों की निकास गति के सीधे आनुपातिक है
[बी] यह उस पल में रॉकेट के प्रारंभिक द्रव्यमान के अनुपात के प्राकृतिक लॉग के सीधे आनुपातिक है
[सी] रॉकेट की लंबाई
[डी] सभी उपरोक्त

सही उत्तर: सी [रॉकेट की लंबाई]
किसी भी समय रॉकेट का वेग गैसों की निकास गति के सीधे आनुपातिक होता है और उस पल में रॉकेट के प्रारंभिक द्रव्यमान के द्रव्यमान के अनुपात के प्राकृतिक लघुगणक के समानुपाती होता है। वी = यू लॉग (एम 1 / एम 2)

Q.निम्नलिखित में से कौन सा एक संरक्षी बल नहीं है?

[ए] इलेक्ट्रोस्टैटिक बल
[बी] चुंबकीय बल
[सी] एक लोचदार वसंत में
बल [डी] घर्षण बल

सही उत्तर: डी [घर्षण बल]
संरक्षी बल एक ऐसा बल है जिसका गुण यह होता है कि किसी कण को ​​दो बिंदुओं के बीच ले जाने में किया गया कार्य लिए गए पथ से स्वतंत्र होता है। उदाहरण: इलेक्ट्रोस्टैटिक बल, चुंबकीय बल, एक लोचदार वसंत में बल घर्षण बल एक गैर-रूढ़िवादी बल है।

Q.निम्नलिखित में से कौन सा यांत्रिक ऊर्जा के संरक्षण का उदाहरण नहीं है?

[ए] एक साधारण लोलक का कंपन
[बी] घड़ी के गिलास पर एक छोटी गोलाकार गेंद की गति
[सी] लोचदार स्प्रिंग का कंपन
[डी] उपरोक्त में से कोई नहीं

सही उत्तर: डी [उपरोक्त में से कोई नहीं]
यांत्रिक ऊर्जा के संरक्षण के कुछ उदाहरण:
* एक साधारण पेंडुलम का कंपन
*वॉच ग्लास के ऊपर एक छोटी गोलाकार गेंद की गति
*एक लोचदार वसंत का कंपन

Q.घड़ी के स्प्रिंग में किस प्रकार की ऊर्जा संचित होती है?

[ए] काइनेटिक
[बी] संभावित
[सी] गर्मी
[डी] रासायनिक

सही उत्तर: बी [संभावित]
स्थितिज ऊर्जा घड़ी के स्प्रिंग में संचित होती है। संभावित ऊर्जा अन्य वस्तुओं के सापेक्ष किसी वस्तु की स्थिति के आधार पर ऊर्जा है। यह अक्सर वसंत या गुरुत्वाकर्षण बल जैसे बहाल करने वाली शक्तियों से जुड़ा होता है।

Q.इनमें से किस ग्रह पर गुरुत्वाकर्षण के कारण त्वरण का मान सबसे कम है?

[ए] मंगल
[बी] बृहस्पति
[सी] बुध
[डी] नेप्च्यून

सही उत्तर: सी [बुध]
गुरुत्वाकर्षण के कारण त्वरण का मान बुध ग्रह पर न्यूनतम और बृहस्पति ग्रह पर अधिकतम है।

Q. निम्नलिखित में से कौन सा गुरुत्वाकर्षण बल के बारे में सही है?

[ए] यह प्रकृति में हमेशा आकर्षक होता है
[बी] यह प्रकृति में हमेशा प्रतिकारक होता है
[सी] यह प्रकृति में आकर्षक हो भी सकता है और नहीं भी
[डी] उपरोक्त में से कोई नहीं

सही उत्तर: ए [यह प्रकृति में हमेशा आकर्षक होता है]
गुरुत्वाकर्षण बल हमेशा प्रकृति में आकर्षक होता है जबकि विद्युत और चुंबकीय बल आकर्षक या प्रतिकारक हो सकते हैं। यह प्रकृति का सबसे कमजोर बल है।सही उत्तर: ए [यह प्रकृति में हमेशा आकर्षक होता है]
गुरुत्वाकर्षण बल हमेशा प्रकृति में आकर्षक होता है जबकि विद्युत और चुंबकीय बल आकर्षक या प्रतिकारक हो सकते हैं। यह प्रकृति का सबसे कमजोर बल है।

Q.निम्नलिखित में से कौन से अवतल दर्पणों के उपयोग के मामले हैं?

[ए] सर्च-लाइट
[बी] शेविंग मिरर
[सी] सोलर फर्नेस
[डी] उपरोक्त सभी

सही उत्तर: डी [उपरोक्त सभी]
अवतल दर्पण का आमतौर पर उपयोग किया जाता है: 1. टॉर्च, सर्चलाइट और वाहनों की हेडलाइट में शक्तिशाली समानांतर प्रकाश पुंज प्राप्त करने के लिए। 2. चेहरे की बड़ी छवि देखने के लिए शेविंग दर्पण के रूप में। 3. दंत चिकित्सकों द्वारा रोगियों के दांतों की बड़ी छवियां देखने के लिए। 4. सौर भट्टियों में गर्मी पैदा करने के लिए सूर्य के प्रकाश को केंद्रित करना।

Q.चुंबकीय क्षेत्र के बारे में निम्नलिखित में से कौन सा सही है?

[ए] चुंबकीय क्षेत्र में परिमाण है लेकिन कोई दिशा नहीं है
[बी] चुंबकीय क्षेत्र में परिमाण और दिशा दोनों हैं
[सी] चुंबकीय क्षेत्र में दिशा हो भी सकती है और नहीं भी
[डी] उपरोक्त में से कोई नहीं

सही उत्तर: बी [चुंबकीय क्षेत्र में परिमाण और दिशा दोनों होते हैं]
चुंबकीय क्षेत्र एक ऐसी राशि है जिसकी दिशा और परिमाण दोनों होते हैं।

Q.फ्लेमिंग के बाएँ हाथ के नियम के अनुसार बल की दिशा क्या होती है?

[ए] चुंबकीय क्षेत्र की दिशा के समानांतर और धारा की दिशा के लंबवत
[बी] चुंबकीय क्षेत्र और धारा की दिशा के समानांतर
[सी] चुंबकीय क्षेत्र और धारा
की दिशा के लंबवत [डी] चुंबकीय क्षेत्र की दिशा के लंबवत क्षेत्र और वर्तमान की दिशा में 45° पर

सही उत्तर: सी [चुंबकीय क्षेत्र और धारा की दिशा के लंबवत]
फ्लेमिंग के बाएं हाथ के नियम के अनुसार बल की दिशा चुंबकीय क्षेत्र और धारा की दिशा के लंबवत होती है।

Q.निम्नलिखित में से कौन सी घटना एक विद्युत जनरेटर का आधार है?

[ए] इलेक्ट्रोमैग्नेटिक इंडक्शन
[बी] फेरोइलेक्ट्रिक इफेक्ट
[सी] टेल्यूरिक करंट
[डी] इलेक्ट्रोल्यूमिनिसेंस

सही उत्तर: ए [विद्युत चुम्बकीय प्रेरण]
विद्युत जनित्र में विद्युत उत्पन्न करने के लिए चुंबकीय क्षेत्र में चालक को घुमाने के लिए यांत्रिक ऊर्जा का उपयोग किया जाता है।

Q.इनमें से किसका उपयोग आवेशित कणों या आयनों को उच्च ऊर्जा में त्वरित करने के लिए किया जाता है?

[ए] सोलेनॉइड
[बी] साइक्लोट्रॉन
[सी] इलेक्ट्रिक मोटर
[डी] टॉरॉयड

सही उत्तर: बी [साइक्लोट्रॉन]
साइक्लोट्रॉन आवेशित कणों या आयनों को उच्च ऊर्जा में त्वरित करने वाली मशीन है।

Q.टोरॉयड के अंदर खुली जगह में किसी बिंदु पर चुंबकीय क्षेत्र क्या होता है?

[ए] शून्य
[बी] एक
[सी] घुमावों में धारा पर निर्भर करता है
[डी] घुमावों की संख्या पर निर्भर करता है

सही उत्तर: ए [शून्य]
टोरॉयड के अंदर खुली जगह में किसी भी बिंदु पर चुंबकीय क्षेत्र शून्य होता है।

Q.किसी पदार्थ का निम्नलिखित में से कौन सा गुण उसे स्थायी चुम्बक बनने के लिए उपयुक्त बनाता है?

[ए] सामग्री में उच्च धारण क्षमता होनी चाहिए
[बी] सामग्री में कम ज़बरदस्ती होनी चाहिए
[सी] सामग्री में कम पारगम्यता होनी चाहिए
[डी] बी और सी दोनों

सही उत्तर: ए [सामग्री में उच्च धारण क्षमता होनी चाहिए]
सामग्री में उच्च धारण क्षमता होनी चाहिए ताकि चुंबक मजबूत और उच्च ज़बरदस्ती हो ताकि चुंबकीयकरण आवारा चुंबकीय क्षेत्र, तापमान में उतार-चढ़ाव या मामूली यांत्रिक क्षति से न मिट सके। इसके अलावा, सामग्री में उच्च पारगम्यता होनी चाहिए।

Q.प्रतिचुंबकीय पदार्थ की संवेदनशीलता क्या होती है?

[ए] सकारात्मक और छोटा
[बी] सकारात्मक और बड़ा
[सी] नकारात्मक
[डी] कोई नहीं

सही उत्तर: सी [नकारात्मक]
संवेदनशीलता χ
के संदर्भ में , एक सामग्री प्रतिचुम्बकीय है यदि χ ऋणात्मक है, पैरा- यदि χ सकारात्मक है और = छोटा है, और फेरो- यदि χ बड़ा और सकारात्मक है

Q.रिडबर्ग नियतांक का मान कितना होता है?

[ए] 1.0973 x 10 3 मीटर -1
[बी] 1.0973 x 10 5 मीटर -1
[सी] 1.0973 x 10 7 मीटर -1
[डी] 1.0973 x 10 9 मीटर -1

सही उत्तर: सी [1.0973 x 10 7 मीटर -1 ]
रिडबर्ग स्थिरांक का मान 1.0973 x 10 7 मीटर -1 है

Q.इनमें से किस ट्रांजिस्टर में n-टाइप सेमीकंडक्टर के दो सेगमेंट को p-टाइप सेमीकंडक्टर के एक सेगमेंट द्वारा अलग किया जाता है?

[ए] पीपीएन ट्रांजिस्टर
[बी] एनपीएन ट्रांजिस्टर
[सी] ए और बी दोनों
[डी] कोई नहीं

सही उत्तर: बी [एनपीएन ट्रांजिस्टर]
एनपीएन ट्रांजिस्टर: एन-टाइप सेमीकंडक्टर (एमिटर और कलेक्टर) के दो खंड पी-टाइप सेमीकंडक्टर (बेस) के एक खंड द्वारा अलग किए जाते हैं

Leave a Comment